Bihar Hari Khad Yojana 2024 | बिहार हरि खाद योजना 2024


Notice: Undefined index: titleWrapper in /home/u837204697/domains/deshyojana.com/public_html/wp-content/plugins/seo-by-rank-math/includes/modules/schema/blocks/toc/class-block-toc.php on line 103

Table of Contents


Introduction of Bihar Hari Khad Yojana 2024 | बिहार हरि खाद योजना 2024 का परिचय

बिहार में मूंग और ढैंचा की खेती के लिए सब्सिडी प्रदान करने के लिए बिहार हरि खाद योजना को फिर से शुरू किया गया है। इस योजना के तहत, राज्य सरकार हरी खाद, विशेष रूप से मूंग और ढैंचा की खेती के लिए वित्तीय सहायता प्रदान करेगी। सरकार की ओर से ढैंचा बीज पर सब्सिडी के लिए ऑनलाइन आवेदन प्रक्रिया शुरू कर दी गई है

बिहार के निवासी जो बिहार हरि खाद योजना के तहत ढैंचा की खेती के लिए सहायता प्राप्त करना चाहते हैं, उन्हें ऑनलाइन आवेदन करना होगा। सरकार मूंग के बीज पर 80% और ढैंचा की खेती पर 90% की सब्सिडी देगी। इस योजना के तहत गर्मी के मौसम में लगभग 28,000 हेक्टेयर में ढैंचा की खेती की जायेगी

इस योजना का लाभ लेने के लिए किसानों को ऑनलाइन आवेदन करना होगा। गर्म मौसम की फसलों के लिए सब्सिडी बिहार राज्य बीज निगम द्वारा प्रदान की जाएगी, जिसमें सभी जिलों के लिए लक्ष्य निर्धारित किए जाएंगे। आवेदन करने के बाद किसानों को ब्लॉक या जिला स्तर पर निगम के डीलर नेटवर्क और अन्य स्रोतों के माध्यम से बीज उपलब्ध कराया जाएगा। इस योजना के तहत सरकार द्वारा अधिकतम 20 किलोग्राम बीज उपलब्ध कराया जाता है।


Objective of the Bihar Hari Khad Yojana | बिहार हरि खाद योजना का उद्देश्य

बिहार सरकार द्वारा शुरू की गई बिहार हरि खाद योजना का प्राथमिक उद्देश्य राज्य में जैविक खेती को प्रोत्साहित करना है। इस पहल का उद्देश्य मूंग और ढैंचा की खेती के माध्यम से मिट्टी में कार्बनिक पदार्थ और कार्बन पदार्थों की उपस्थिति को बढ़ाना है। इस योजना के तहत किसान अनुदानित दरों पर बीज प्राप्त करने के लिए ऑनलाइन आवेदन कर सकते हैं। इससे न केवल किसानों की आय बढ़ती है बल्कि उनका जीवन स्तर भी ऊंचा उठता है।

ढैंचा, जिसे सेसबानिया या हरी खाद के नाम से भी जाना जाता है, एक हरी खाद की फसल है जिसका उपयोग मिट्टी की उर्वरता को बढ़ाने के लिए किया जाता है। ढैंचा के पौधे उगाकर और बाद में उन्हें मिट्टी में मिलाकर किसान हरी खाद का उत्पादन कर सकते हैं। इसके समावेश के बाद, ढैंचा विघटित होता रहता है, जिससे मिट्टी कार्बनिक पदार्थों से समृद्ध होती है।

इससे खेतों में अतिरिक्त यूरिया डालने की आवश्यकता कम हो जाती है। हरी खाद के रूप में ढैंचा का उपयोग करने से मिट्टी के जैविक, रासायनिक और भौतिक गुणों को बढ़ाकर स्वास्थ्य में सुधार होता है, साथ ही जल धारण क्षमता भी बढ़ती है। इसके अलावा, ढैंचा का अपघटन मिट्टी को नाइट्रोजन, पोटेशियम, सल्फर, कैल्शियम, मैग्नीशियम, तांबा, जस्ता और लौह जैसे विभिन्न पोषक तत्वों से समृद्ध करता है, जो समग्र मिट्टी की उर्वरता में योगदान देता है।


Farmers will get home delivery facility in Bihar Hari Khad Yojana | बिहार हरि खाद योजना में किसानों को होम डिलीवरी की सुविधा मिलेगी

ढैंचा बीज के लिए किसान 12 मई तक आवेदन कर सकते हैं। आवेदन करने के बाद किसानों को बीज का वितरण 22 मई तक किया जाएगा। जो किसान राज्य से ढैंचा बीज के लिए सब्सिडी का लाभ उठाना चाहते हैं, उन्हें जल्द से जल्द बिहार हरि खाद योजना के तहत ऑनलाइन आवेदन करना होगा। इस योजना में प्राथमिकता जैविक गलियारों में भागीदार और आधुनिक कृषि मशीनरी का उपयोग करने वाले किसानों को दी जाएगी। इसके अतिरिक्त, राज्य में छोटे पैमाने के किसानों को प्रति हेक्टेयर 20 किलोग्राम बीज के वितरण के साथ प्राथमिकता मिलेगी।

बिहार हरि खाद योजना के तहत किसानों को होम डिलीवरी सेवा भी प्रदान की जाएगी। इस सेवा का लाभ उठाने के लिए किसानों को मामूली शुल्क देना होगा। हालांकि यह वैकल्पिक है, किसान इस सेवा से बाहर निकलने का विकल्प चुन सकते हैं। हालाँकि, यदि वे होम डिलीवरी पसंद करते हैं, तो उन्हें आवेदन प्रक्रिया के दौरान इस विकल्प का चयन करना होगा, जिसके बाद उन्हें होम डिलीवरी के माध्यम से बीज प्राप्त होंगे। सब्सिडी प्रदान करने वाली बिहार हरि खाद योजना के तहत ढैंचा बीज के लिए आवेदन शुरू हो गए हैं और 12 मई तक जारी रहेंगे।


Eligibility for the Bihar Hari Khad Yojana | बिहार हरि खाद योजना के लिए पात्रता

  1. आवेदक बिहार का निवासी होना चाहिए।
  2. राज्य के सभी किसान इस योजना के तहत आवेदन करने के पात्र हैं।
  3. मूंग एवं ढैंचा की खेती करने वाले किसान आवेदन करने के पात्र हैं।
  4. आवेदन प्रक्रिया के लिए आवेदक किसान का बैंक खाता आधार कार्ड से लिंक होना चाहिए।

Document required for Bihar Hari Khad Yojana | बिहार हरित खाद योजना के लिए आवश्यक दस्तावेज

  1. आधार कार्ड: पहचान के लिए आवश्यक है।
  2. निवास प्रमाण पत्र: आवेदक के निवास का स्थायी प्रमाण होना चाहिए।
  3. आय प्रमाण पत्र: आवेदक की आय का प्रमाण होना आवश्यक है।
  4. जाति प्रमाण पत्र: आवेदक की जाति का प्रमाण होना चाहिए।
  5. किसान पंजीकरण संख्या: किसान के पंजीकरण का संख्यात्मक प्रमाण होना चाहिए।
  6. मोबाइल नंबर: संपर्क के लिए आवश्यक है।
  7. बैंक पासबुक: बैंक खाता और विवरण के लिए।
  8. पासपोर्ट साइज फोटो: आवेदक की पहचान के लिए।

How To apply for the Bihar Hari Khad Yojana 2024 online | बिहार हरि खाद योजना 2024 के लिए ऑनलाइन आवेदन कैसे करें

  1. योजना की आधिकारिक वेबसाइट पर जाएं।
  2. होमपेज पर पहुंचने के बाद बीज आवेदन के विकल्प पर क्लिक करें।
  3. एक नया पेज खुलेगा जहां आपको अपना किसान पंजीकरण नंबर दर्ज करना होगा।
  4. “खोज” विकल्प पर क्लिक करें।
  5. योजना से संबंधित सभी प्रासंगिक जानकारी प्रदर्शित की जाएगी।
  6. अब, “लागू करें” विकल्प पर क्लिक करें।
  7. एक आवेदन पत्र दिखाई देगा। सभी आवश्यक जानकारी ध्यानपूर्वक भरें।
  8. आवेदन पत्र में मांगे गए सभी आवश्यक दस्तावेजों को स्कैन करके अपलोड करें।
  9. अंत में, “सबमिट” विकल्प पर क्लिक करें।
  10. आपको एक रसीद प्राप्त होगी, जिसे आपको संदर्भ के लिए प्रिंट करके सुरक्षित रख लेना चाहिए। इस प्रकार आप ऑनलाइन आवेदन के माध्यम से योजना के तहत लाभ के लिए आवेदन कर सकते हैं।

Frequently Asked Questions

बिहार हरि खाद योजना (Bihar Hari Khad Yojana) क्या है?

बिहार हरि खाद योजना एक सरकारी योजना है जिसका उद्देश्य मूंग और ढैंचा फसलों की खेती के लिए सब्सिडी प्रदान करके जैविक खेती को बढ़ावा देना है।

योजना के लिए आवेदन करने के लिए कौन पात्र है?

बिहार के निवासी जो मूंग और ढैंचा की खेती करते हैं, वे इस योजना के लिए आवेदन करने के पात्र हैं।

आवेदन के लिए कौन से दस्तावेज़ आवश्यक हैं?

आवेदकों को आधार कार्ड, निवास प्रमाण, आय प्रमाण, जाति प्रमाण पत्र, किसान पंजीकरण संख्या, मोबाइल नंबर, बैंक पासबुक और पासपोर्ट आकार की फोटो जैसे दस्तावेज प्रदान करने होंगे।

मैं बिहार हरि खाद योजना के लिए कैसे आवेदन कर सकता हूं?

आवेदक आधिकारिक वेबसाइट पर जाकर, आवश्यक विवरण के साथ आवेदन पत्र भरकर और आवश्यक दस्तावेज अपलोड करके योजना के लिए आवेदन कर सकते हैं।

आवेदन की अंतिम तिथि क्या है?

आवेदन की अंतिम तिथि अलग-अलग हो सकती है, लेकिन आवेदकों को सलाह दी जाती है कि वे सरकार द्वारा उल्लिखित निर्दिष्ट समय सीमा के भीतर आवेदन करें।

क्या आवेदन करने के लिए कोई शुल्क है?

बिहार हरि खाद योजना जैसी सरकारी योजनाओं में आवेदन करने के लिए आमतौर पर कोई शुल्क नहीं है।

मुझे योजना का लाभ कैसे मिलेगा?

सफल आवेदन पर, आवेदकों को बीजों के लिए सब्सिडी जैसे लाभ प्राप्त होंगे, जिन्हें अक्सर निर्दिष्ट चैनलों या होम डिलीवरी सेवाओं के माध्यम से वितरित किया जाता है।

मुझे योजना के बारे में अधिक जानकारी कहां मिल सकती है?

बिहार हरि खाद योजना के बारे में विस्तृत जानकारी आधिकारिक सरकारी वेबसाइट पर या आधिकारिक घोषणाओं और प्रकाशनों के माध्यम से पाई जा सकती है।

Leave a comment